12 से 17 रबीउल अव्वल तक हफ्ता-ए-वहदत

1 min read

अम्बेडकरनगर (अवधी खबर)। मीरानपुर स्थित जामा मस्जिद के पेशइमाम मौलाना अकबर अली वाएज जलालपुरी ने बताया कि पैगंबररे इस्लाम के जन्म को लेकर अलग-अलग मत है। एक मतावलंबियों के मुताबिक रसूले करीम का जन्मदिवस 12 रबीउल अव्वल और दूसरे मतावलंबियों के अनुसार 17 रबीउल अव्वल है। इसी के मद्देनजर शिया समुदाय के विश्व स्तरीय रहनुमा रहे इमाम खुमैनी ने 12 से 17 रबीउल अव्वल को हफ्ता-ए-वहदत यानी एकता सप्ताह का नाम दिया। जिससे मजहबे इस्लाम के विभिन्न मतों के बीच एकता व भाईचारा बना रहे। इस तरह पिछले चार दशक से 12 से 17 रबीउल अव्वल तक सप्ताह भर जश्ने रहमतुल्लिल आलमीन मनाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *