गैंग रेप मामले में सभी आरोपी गिरफ्तार अन्य विधिक कार्यवाही प्रचलित

1 min read


अंबेडकरनगर। जनपद की पुलिस नाबालिग बिटिया को भले ही न्याय नहीं दिला पाई। लेकिन अब अपनी पीठ थपथपा ने में कोई कसर छोड़ने वाली नहीं है। पुलिस ने घटना में शामिल सभी चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आपको बता दे मालीपुर थानाक्षेत्र के कांदीपुर निवासी कक्षा आठ की छात्रा का बीते 16 सितंबर को अज्ञात कार सवारों ने अपहरण कर लिया था। पिता के तहरीर पर पुलिस ने भगाने की धारा में मुकदमा दर्ज किया था। मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस मामले को घुमाती रही।दो दिन बाद छात्रा 18 सितंबर को सुबह घर पहुँच गई। पीड़ित पिता अपने साथ छात्रा को थाने लेकर गए। थाना द्वारा लगभग पांच दिन में छात्रा का मेडिकल और बयान आदि दर्ज कराया। पीड़िता ने अपने बयान में मीरा देवी निवासी कान्दीपुर थाना मालीपुर और सम्मनपुर थाना के कटघर मूसा निवासी मोहम्मद अरशद को अपहरण में शामिल होने तथा दो अन्य कार सवार अज्ञात व्यक्तियों द्वारा लखनऊ ले जाकर एक होटल में सामुहिक दुराचार की बात कही गई थी। बयान के बाद विवेचक प्रमोद खरवार आरोपियों पर कार्यवाही के बजाय पीड़ित परिवार को ही उलझाने लगे। छात्रा के आत्महत्या के एक दिन पहले विवेचक पीड़िता के घर गये जहाँ पीड़िता ने आरोपियों को रात में गिरफ्तारी नहीं करने पर आत्महत्या करने की धमकी दी थी।इसके बाद विवेचक ने आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया। जिससे क्षुब्ध छात्रा ने बीते बुधवार को घर में चुनरी के सहारे फांसी लगा ली।गैंगरेप पीड़िता की आत्महत्या की खबर आग की तरह फैल गई।देखते ही देखते मृतका के घर सैकड़ो लोग जुट गये।परिजनों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया। पुलिस जब मृतक छात्रा की शव को अभिरक्षा में नही ले पाई तब कही जाकर उच्चाधिकारियों को सूचना दी गई। इस दौरान घटना स्थल पर पहुंचे उपजिलाधिकारी हरिशंकर लाल,सीओ देवेन्द्र कुमार, नायब तहसीलदार राजकपूर के समझाने बुझाने के बाद भी परिजन बगैर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के आये पोस्टमार्टम के लिए तैयार नहीं हुये।इस बीच घटना स्थल पर पहुंचे एडीएम और एएसपी भी समझाते रहे किन्तु परिजन थानाध्यक्ष और विवेचक के खिलाफ कार्यवाही,20 लाख रुपये मुवाबजा, सभी आरोपियों के घर बुलडोजर से गिराने, आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की बात कहते रहे। शाम को जिलाधिकारी सैमुएल पाल के पहुँचने और उक्त सभी मांगो की उद्घोषणा के बाद परिजन पोस्टमार्टम के लिए तैयार हुये।इस दौरान मुकदमे की विवेचना जलालपुर कोतवाली को ट्रांसफर कर दी गई। पुलिस ने सम्मनपुर थानाक्षेत्र अंतर्गत कटघर मूसापुर निवासी मुख्य अभियुक्त अरसद पुत्र यार मोहम्मद, मालीपुर थानाक्षेत्र अंतर्गत कांदीपुर निवासी मीरा उपाध्याय पत्नी सुरेंद्र उर्फ गुड्डू उपाध्यक्ष, जलालपुर थानाक्षेत्र अंतर्गत मुरवाह निवासी अंकेश कुमार पुत्र उदयराज, जनपद लखीमपुर के थाना परगवा अंतर्गत रतनपुर निवासी कृष्ण कुमार यादव पुत्र महेंद्र सिंह यादव को गिरफ्तार कर थाना स्थनीय पर अग्रिम विधिक कार्यवाही प्रचलित है। तथा प्रकरण के विभिन्न पहलुओं पर गहनता से जाँच प्रचलित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *