कभी भी पीछे से दुश्मन पे वार मत करना : मौलाना हैदर अब्बास

1 min read

कभी भी पीछे से दुश्मन पे वार मत करना : मौलाना हैदर अब्बास

अंबेडकरनगर। जलालपुर तहसील क्षेत्र के ग्राम कटघरमूसा में अंजुमन गुंचए हुसैनी के नेतृत्व में जुलूसे अमारी का सालाना कार्यक्रम मंगलवार को आयोजित किया गया। सुबह से देर शाम तक अंजुमनों ने नौहामातम कर कर्बला के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित किया।
उससे पूर्व मौलाना सैय्यद हैदर अब्बास ने हाशिम रजा जलालपुरी के कलाम का उल्लेख करते हुए कहा- कभी भी पीछे से दुश्मन पे वार मत करना, भले ही जान का खतरा हो ये सिखाया गया। मौलाना नदीम हैदर ने अकीदतमंदों को संबोधित करते हुए कहा कि हजरत इमाम हुसैन व उनके 71 साथियों की शहादत के बाद बहन जनाबे जैनब समेत अन्य महिलाओं, बच्चों के अलावा इमाम हुसैन के पुत्र इमाम जैनुल आबिदीन को यजीदी हुकूमत ने बंदी बनाकर न केवल कर्बला से कूफा तक घुमाया बल्कि हर संभव अत्याचार किया। इमाम हुसैन और उनके परिवारवालों द्वारा दिए गए बलिदान की याद में यह मजलिसो मातम, जुलूसे अमारी का सिलसिला बदस्तूर जारी है। कार्यक्रम में अंजुमन रौनके इस्लाम जलालपुर, अंजुमन दस्ते फिरदौसिया बिहार, अंजुमन नूरे इस्लाम जलालपुर, अंजुमन जाफरिया मुस्तफाबाद, अंजुमन असगरिया गाजीपुर एवं अंजुमन गुंचए हुसैनी कटघरमूसा ने नौहोमातम किया। जुलूस में व्यापक स्तर पर नजरे हुसैन, सबील व नौनिहालों के लिए नैय्यर अब्बास की ओर से दूध का प्रबंध किया गया था। दौरान जुलूस मौलाना सैय्यद मंजर अब्बास, मौलाना सैय्यद अबुल हसन, मौलाना सैय्यद नूरुल हसन, मौलाना सैय्यद फसीह हैदर ज़ैदी मुजफ्फरनगर ने तयशुदा स्थानों पर मजमें को संबोधित किया। मौलाना सैय्यद मोहम्मद मेहदी आजमी के संबोधन के बाद अमारी जुलूस का समापन हुआ। संचालन का उत्तरदायित्व फसाहत जौनपुरी ने निभाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *