दीन से गुमराही दंड का कारण बनेगी : मौलाना आसिफ़ रज़ा

1 min read

दीन से गुमराही दंड का कारण बनेगी : मौलाना आसिफ़ रज़ा

अंबेडकरनगर। अल्लाह के इस फरमान को हमेशा याद रखना होगा कि दीन से गुमराही बेशक घाटे का सौदा साबित होगी। ऐसे लोग रोजे कयामत दण्ड के भागीदार होंगे। उक्त विचार मौलाना आसिफ रजा रिजवी ने जलालपुर तहसील क्षेत्र के ग्राम मछलीगांव स्थित इमामबाड़ा शहंशाह हुसैन में जारी 10 दिवसीय वार्षिक मजलिस कार्यक्रम के तीसरे दिन लोगों को संबोधित करते हुए व्यक्त किया।
उन्होंने कहा वैसे तो प्रकृति मनुष्य के जन्म के साथ ही जीवन, मरण, यश, अपयश, लाभ, हानि, स्वास्थ्य, बीमारी, देह, रंग, परिवार, समाज, देश-स्थान सब पहले से ही निर्धारित करती है लेकिन एक तथ्य यह भी है कि इंसान अपने नेक आमाल की बदौलत बहुत सी पूर्व निर्धारित परिस्थितियों को अपने पक्ष में परिवर्तित कर सकता है। अहलेबैत-ए-अत्हार के हवाले से कहा सदा सरल रहें, सहज रहें और मन, वचन व कर्म से सद्कर्म में लीन रहें।
फर्शे मजलिस घृणा, छल-कपट, शत्रुता तथा ईर्ष्यापूर्ण भाव नहीं बल्कि सादगी, सहयोग, प्रेम, शिष्टाचार व एक दूसरे के प्रति आदर-सम्मान का संदेश देता है। मौलाना आसिफ रजा ने उक्त अवसर पर इमाम हुसैन की बेटी जनाबे सकीना पर ढाए गए जुल्मों सितम का जिक्र किया तो माहौल गमगीन हो गया। मौलाना नूरुल हसन रिजवी, शीबू रिजवी, अधिवक्ता एहसान रजा, डा. जाकिर इमाम, हाशिम रजा, तौसीफ रजा, तौहीद रजा, कैसर अब्बास, आदिल अब्बास समेत अन्य लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *