सामाजिक और संवैधानिक क्षेत्र में पिछड़ों को हक देने वाले सामाजिक न्याय और जुल्मों सितम से लड़ने वाली वीरांगना फूलन देवी के परिनिर्माण दिवस एवं छत्रपति शाहू जी महाराज की जयंती मंडल दिवस 7 अगस्त से पूर्व की याद में मनाया गया…

1 min read

सामाजिक और संवैधानिक क्षेत्र में पिछड़ों को हक देने वाले सामाजिक न्याय और जुल्मों सितम से लड़ने वाली वीरांगना फूलन देवी के परिनिर्माण दिवस एवं छत्रपति शाहू जी महाराज की जयंती मंडल दिवस 7 अगस्त से पूर्व की याद में मनाया गया…

अयोध्या,अवधी खबर (राजू निषाद)। अयोध्या भारत सहयोग संघ के द्वारा प्रेस क्लब अयोध्या में एक विचार गोष्ठी का आयोजन फूलन देवी के परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर प्रदीप निषाद के संचालन में मुख्य अतिथि राम लखन यादव पूर्व बीएसए की अध्यक्षता में स्नेह लता निषाद सामाजिक कार्यकर्ता के आयोजक में राजू निषाद प्रदेश उपाध्यक्ष भारत सहयोग संघ की उपस्थिति में कार्यक्रम की शुरुआत फूलन देवी के चित्र पर मालार्पण पुष्प अर्पित कर शुरुआत किया गया। मुख्यअतिथि के रूप में बोलते हुए राम लखन यादव ने बताया की हमारा कार्यक्षेत्र जालौन जिला में रहा है, इसलिए फूलन देवी वहा के क्षेत्र के बारे में जानने का अवसर मिला। वहां विषमता की जो खाई थी वह काफी ऊंची और नीचे थी। अन्याय जुल्म और जातती होती रहती है। और उसी में इनके साथ जो अन्याय हुआ उसी का प्रतिकार किया उसी विद्रोही का नाम फूलन देवी पड़ा। उन तमाम महिलाओं को उनसे सीख लेनी चाहिए जो शोषित और पीड़ित हैं। मुख्य वक्ता के रूप में चंदपाल साहब प्रवक्ता कबीर मठ अयोध्या ने बोलते हुए कहा कि हजारों साल से सताए हुए समाज पर जब अत्याचार बढ़ता है। शासक वर्ग द्वारा शोषित वर्ग का शोषण की प्रकाष्ठा का पार करना पर ही फूलन देवी का जन्म होता है। लंदन का गार्जियन अखबार, अमेरिका की फोर्ब्स पत्रिका भारत के पूर्व राष्ट्रपति केआर नारायणन के संबोधन में जो महिला आई है,निश्चित रूप से उसमें संघर्ष करने की बहुत क्षमता होती है। जिस अखबार ने प्रधानमंत्री के मृत पर कोई लेख नहीं लिखता है।

उसने फूलन देवी के ऊपर लेख लिखता है उनके परिनिर्माण होने पर वह मामूली इंसान नहीं हो सकता है।जो छत्रपति शाहूजी महाराज सामाजिक आंदोलन को आगे बढ़ाया इस आंदोलन को बहुत दिनों तक समाज में छाई विषमता को समाप्त करने में एक कारगर शासक के रूप में उभरे और सामाजिक न्याय आधारित प्रतिनिधित्व प्रणाली का पालन करके अपने राज्य में सामाजिक न्याय किया। मंडल कमीशन पर बोलते हुए ओबीसी एससी के उन नौजवानों को के लिए संदेश बताया कि जो मिथ्यको से बचकर डॉक्टर अंबेडकर, गौतम बुद्ध, संत सम्राट कबीर साहब के विचारों को अपनाना चाहिए। तर्क आधारित बातों को आत्मसात करना चाहिए। इस अवसर पर रामानंद यादव फौजी, सुनील निषाद प्रदेश अध्यक्ष कार्यकारी ओबीसी महासभा, प्रोफेसर बालक राम विश्वकर्मा, जसपाल निषाद जिला अध्यक्ष वीआईपी, श्रीनाथ निषाद पूर्व प्रधान, पवन निषाद, गुरु प्रसाद निषाद, हेमंत निषाद, अमरजीत निषाद सभासद कैंट, दीपू कोरी आशीष गौतम अमरनाथ चौधरी प्रदेश सचिव बीएमपी, बृजेश रावत, संजय निषाद, राजेंद्र निषाद, सुरेश राणा, पवन निषाद, राजेंद्र निषाद, अलोक निषाद,अन्य लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *