नेतवै वोटवा लेय खातिर विकास-विकास चिल्लात बाटिन

1 min read

अंबेडकरनगर I चुनाव की तारीख ज्यों-ज्यों नजदीक आ रही है, सियासी सरगर्मी बढ़ती जा रही है। चुनावी चकल्लस अब गांव-गली और चौराहों पर सुनाई देने लगी है। चाय की चुस्कियों के बीच सुबह-शाम चुनावी चुटकी ले रहे हैं। कोई किसी पार्टी के प्रतिनिधि के तौर पर अपनी बात रख रहा है तो कोई सामाजिक स्तर पर सुधार के लिए साफ-सुथरी सरकार बनाने की बात कर रहा है।

सर्द हवाओं के बीच टांडा के आदर्श चौराहे के पास स्थित विद्यालय के बाहर अलाव के पास बैठे लोग प्रत्याशियों की हार-जीत का गुणा-भाग लगाने में व्यस्त थे। आज्ञाराम वर्मा बोले कि चुनाव आया है तो हर पार्टी किसानों की हितैषी बनी हुई है। कोई किसानों को हरसंभव लाभ देने का वादा कर रहा है तो कोई कुछ और।

बोले वादों के मकड़जाल में उलझने की जगह हमें सोच समझकर किसानों के हित में काम करने वाली सरकार बनाने के लिए वोट करना है। इसी बीच राजकुमार वर्मा बोल पड़े। कुछ भी हो मौजूदा सरकार में अपराधियों पर अंकुश लगा है और इस चुनाव में भी सही प्रत्याशी चुनने का काम करें तो बात बने। इस बीच सभी को रोकते हुए रणजीत यादव ने कहा कि प्रदेश व क्षेत्र का विकास अहम है। चुनाव में विकास के मुद्दे पर सभी को मतदान करने का मन बनाना चाहिए। तरह-तरह का प्रलोभन देकर वोट हासिल करने वाले प्रदेश को आगे नहीं बढ़ा सकते।

विनोद यादव ने नेताओं पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए नाराजगी जाहिर की। बोले कि नेतवै वोटवा लेय खातिर विकास-विकास चिल्लात बाटिन, लकिन जीतै के बाद सब भुलाय जातिन। अब अइसन करे वाले नेता लोगन के हमहु बताउब। विनय कुमार बोले, बेरोजगारों को रोजगार देने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा। नेता सिर्फ एक दूसरे के ऊपर आरोप लगाने में मशगूल हैं। कोई देश से बेरोजगारी खत्म करने के लिए ठोस कदम उठाने का काम करने वाला नहीं दिख रहा।

बच्चाराम वर्मा बोले, जब तक जाति-पात देखकर अपना प्रतिनिधि चुनेंगे तब तक किसी का भला नहीं होने वाला। बीच में टोकते हुए विमलेश विश्वकर्मा बोले, बिलकुल सही कहा, हम बिना किसी प्रलोभन के अपने मतदान के दम पर सही नेता का चयन करेंगे तो निश्चित तौर पर लोगों के हित में काम होगा। प्रदेश व क्षेत्र के विकास के लिए सरकार चुनने का समय आया है, तो सभी को जागरूक मतदाता होने का परिचय देने के साथ ही ऐसी सरकार को चुनने का काम करना होगा, जो समूचे प्रदेश का विकास कर सके। घंटेभर चली बहस के बीच लोग धीरे-धीरे अपने काम में मशरूफ होते गए।

तब पहली बार जिले में खुला था भाजपा का खाता, चुने गए थे दो विधायक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित